15 Effective Ayurvedic Face Pack for Glowing Skin

हल्दी एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक है। इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं और यह त्वचा में चमक लाने वाले प्रभावों के लिए भी जाना जाता है। बेसन एक अच्छा एक्सफोलिएंट है और आपकी त्वचा के पीएच संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है।

चंदन में जीवाणुरोधी गुण होते हैं। शहद एक विनम्रता है जो आपकी त्वचा को कोमल और कोमल बनाता है। यह हर्बल फेस पैक मुहांसों और फुंसियों के इलाज में बहुत प्रभावी है।

गेंदे की पंखुड़ियों को कुचलकर पेस्ट बना लें।
इसमें चंदन पाउडर, दही और नींबू का रस मिलाएं और अच्छी तरह से मिलाएं।
पेस्ट को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
पानी से धोएं।
मैरीगोल्ड या कैलेंडुला सूजन को खत्म करने में फायदेमंद है और इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं। यह आयुर्वेदिक फेस मास्क एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है और नियमित उपयोग के साथ आपकी त्वचा की टोन को उज्ज्वल करता है।

सभी सामग्रियों को मिलाएं और एक पेस्ट बनाएं। आप वांछित स्थिरता के अनुसार दूध की मात्रा को समायोजित कर सकते हैं।
इसे अपने चेहरे पर लागू करें और इसे सूखने तक बैठने दें।
गुनगुने पानी से धो लें।
यह फेस पैक बेहद हाइड्रेटिंग है। दूध मुंहासों को साफ करने और आपके चेहरे को चमकाने में मदद करता है जबकि चंदन पाउडर मुंहासों और फुंसियों को साफ करने में मदद करता है। बेसन अतिरिक्त गंदगी और तेल को हटाता है, लेकिन यह आपके प्राकृतिक तेलों को चीर नहीं देता है, इसलिए आपको चमकती हुई त्वचा मिलती है।

एक कटोरे में सभी सामग्रियों को मिलाएं और एक पेस्ट बनाएं।
पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 5 मिनट तक मसाज करें।
इसे 15 मिनट तक सूखने दें।
इसे धो लें।
एक मॉइस्चराइजर के साथ पालन करें।
इस फेस पैक में तेल को अवशोषित करने वाले गुण होते हैं और यह त्वचा पर उत्कृष्ट विरोधी भड़काऊ प्रभाव प्रदर्शित करता है। यह एक स्क्रब के रूप में कार्य करता है जो धीरे-धीरे सभी मृत त्वचा कोशिकाओं को बाहर निकालता है, जिससे आपकी त्वचा स्पर्श करने के लिए चिकनी हो जाती है।

शहद और नींबू का रस मिलाएं।
सभी अपने चेहरे पर लागू करें। अपनी आंखों के आसपास के क्षेत्र को छोड़ दें।
20 मिनट के बाद इसे धो लें।
नींबू में एएचए या अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड होते हैं जो मृत त्वचा को हटाने में मदद करते हैं। शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं और यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो आपके चेहरे को दमकता हुआ बनाए रखता है।

एक कटोरे में सामग्री को मिलाएं।
एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं और इसे पूरे चेहरे पर फैलाएं। इसे सूखने दें।
इसे पानी से निकालते समय, धीरे से अपने चेहरे पर मालिश करें।
पैट अपना चेहरा सूखा।
यह हर्बल फेस पैक ब्लीमेज को फीका कर सकता है। नींबू और हल्दी टैनिंग को कम करने के लिए एक साथ काम करते हैं और आपकी त्वचा को चमकदार बनाते हैं जबकि दूध इसे नरम रखता है।

एक ब्लेंडर में हौसले से स्कूप किया हुआ एलोवेरा पल्प टॉस करें और अन्य अवयवों को जोड़ें।
उन्हें अच्छी तरह से ब्लेंड करें (30 सेकंड के लिए)।
पैक को सीधे अपने चेहरे पर लगाएं। नेत्र क्षेत्र से बचें।
इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें।
मुसब्बर वेरा और नींबू दोनों आवश्यक विटामिन और अन्य यौगिकों से भरे होते हैं जो आपकी त्वचा को सूजन से मुक्त रखते हैं और मुँहासे और मुँहासे के दाग को दूर करने में मदद करते हैं। वे आपकी त्वचा को भी टोन करते हैं और छिद्रों को कसते हैं।

एवोकैडो और तेल को अच्छी तरह से मिलाएं।
अपने चेहरे पर लागू करें और त्वचा को 15-20 मिनट के लिए सामग्री की भलाई में भिगो दें।
गुनगुने पानी से धो लें।
एवोकैडो कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है और काले घेरे को कम करता है। लैवेंडर का तेल सनबर्न को शांत करने में मदद करता है और सूजन को रोकता है। इसके अलावा, यह भी एक महान तनाव है। यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए एक सुखदायक फेस पैक है।

आंवले के पेस्ट को एक कटोरे में डालें और इसे शहद और दही के साथ मिलाएं।
एक महीन पेस्ट बनाएं और अपने चेहरे पर लगाएं। इसे सूखने दें।
पानी से धो लें।
यह फेस पैक रूखी त्वचा वालों के लिए बेहद फायदेमंद है। यह नमी को लॉक करता है और आपकी त्वचा को फिर से जीवंत करता है। दही और आंवले में ब्लीचिंग गुण होते हैं और यह मुंहासों को दूर रखते हैं।

एक मूसल और मोर्टार लें और पत्तियों को पीस लें। पेस्ट बनाने के लिए आप ग्राइंडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
नींबू का रस और हल्दी जोड़ें और फिर मिश्रण करें।
अपने चेहरे पर मास्क को फैलाने के लिए एक सपाट ब्रश का उपयोग करें। इसे सूखने दें।
इसे धो लें।
तुलसी और नीम दोनों में जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो मुँहासे और धब्बा को साफ़ करते हैं। यह फेस पैक आपकी त्वचा को सूरज की क्षति से बचाता है और मुंहासों के कारण होने वाले दाग-धब्बों को कम करता है।

एक कटोरी में मुल्तानी मिट्टी, चंदन पाउडर और टमाटर का रस मिलाएं। एक महीन पेस्ट बनाएं।
आप एक चुटकी हल्दी (वैकल्पिक) भी मिला सकते हैं।
अपने चेहरे पर मुखौटा लागू करें और इसे सूखने दें।
इसे पानी से धो लें।
मुल्तानी मिट्टी त्वचा को टोन करती है, छिद्रों को सिकोड़ती है, और आपके चेहरे से सभी तेल और गंदगी को साफ करती है। यह आयुर्वेदिक फेस पैक आपकी त्वचा को हल्का करता है और इसे प्राकृतिक रूप से चमकदार बनाता है।

मुल्तानी मिट्टी को शहद और दूध के साथ मिलाएं।
अच्छी तरह ब्लेंड करें और इसे अपने चेहरे पर लगाएं।
इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें।
यदि आप सुस्त और बेजान त्वचा हैं तो यह कायाकल्प करने वाला हर्बल फेस मास्क सबसे अच्छा है। नियमित उपयोग के साथ, यह आपके चेहरे पर चमक को पुनर्स्थापित करता है।

पुदीने की पत्तियों को क्रश करें और केले और नींबू के रस के साथ मिलाएं।
अपने चेहरे को साफ करें और मिश्रण को समान रूप से फैलाएं।
कुछ मिनट के लिए मालिश करें और फिर इसे सूखने दें।
बाद में इसे धो लें।
यदि आप अपनी त्वचा पर दाग और धब्बे से परेशान हैं, तो इस फेस पैक के लिए जाएँ। पुदीना मुंहासे और फुंसियों को ठीक करता है। वे जीवाणुरोधी भी होते हैं और आपकी त्वचा से अशुद्धियों को निकालते हैं।

क्या आपकी त्वचा सुस्त है? और हाइपरपिग्मेंटेशन? यदि हाँ, तो यह फेस पैक आपकी त्वचा के सभी मुद्दों का जवाब है। यह न केवल आपके चेहरे को उज्ज्वल करता है, बल्कि सूजन को कम करता है और मुँहासे को ठीक करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *